सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश पॉलिटिक्स वीडियोस

हनुमान सेतु मंदिर में सीएम योगी हनुमान जी के दर्शन के लिए पहुंचे

लखनऊ से बड़ी खबर हनुमान सेतु मंदिर में सीएम योगी हनुमान जी के दर्शन के लिए पहुंचे,भाजपा कार्यकर्ताओं ने खुलेआम आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए झंडे लहराये _

लखनऊ । राजधानी लखनऊ के हनुमान सेतु मंदिर में सीएम योगी सुबह करीब 9 बजे हनुमान मंदिर दर्शन के लिए पहुंचे । वह करीब 15 मिनट तक मंदिर में रुके और इस दौरान उन्होंने हनुमान चालीसा का पाठ भी किया । सीएम योगी के बयान पर चुनाव आयोग ने प्रतिबंध लगा रखा है । हालांकि उनके प्रतिबंध में मंदिर में जाना शामिल नहीं है । साथ ही बताते चलें कि सीएम योगी के हनुमान मंदिर पहुंचने को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा खुलेआम आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए काफी संख्या में काफिले के साथ झंडे लहराते नजर आए ।_

_आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने आखिरकार आदर्श चुनाव आचार संहिता उल्लंघन मामलों में बड़ी कार्रवाई की है । सोमवार को आयोग ने योगी आदित्यनाथ पर तीन दिन चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है । आयोग ने गहरी नाराजगी भी जाहिर की है । यह रोक आज सुबह छह बजे से शुरू होगी । चुनाव आयोग ने कहा मेरठ की रैली में आदित्यनाथ द्वारा की गई अली और बजरंग बली की टिप्पणी जाहिर तौर पर उचित नहीं है । योगी ने मेरठ की रैली में कहा था कि यदि सपा-बसपा गठबंधन को अली पर भरोसा है तो उन्हें बजरंग बली पर भरोसा है ।_

_चुनाव आयोग ने योगी के बयान को सीधे तौर पर एमसीसी का उल्लंघन माना । आयोग ने कहा एक राज्य का मुख्यमंत्री होने के नाते योगी पर धर्म निरपेक्ष मूल्यों के अतिरिक्त सभी के मूल नैतिक अधिकारों को बनाए रखने की जिम्मेदारी है । रैली में उनकी टिप्पणियों ने सार्वजनिक मर्यादा का उल्लंघन किया है । जो खुले तौर पर वोटों के ध्रुवीकरण की कोशिश कही जा सकती है । आयोग द्वारा जारी किए गए कारण बताओ नोटिस का जवाब देते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि उनकी अली और बजरंग बली टिप्पणी मायावती की देवबंद में मुस्लिम मतदाताओं की अपील के जवाब में दी गई थी ।_

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

बबीना बबीना से बड़ी खबर:बैलडिगं के सिलेन्डर मे आग लगने से तीन युवक झुलसे

Ajay Swarnkar

विधुत विभाग की लापरवाही मौत को दावत दे रहा है तार पर लटका हुआ पत्थर !

Ajay Swarnkar

जालौन-कुशीनगर में हुई पत्रकार की हत्या के विरोध में जालौन के पत्रकारों ने भेजा मुख्यमंत्री को ज्ञापन।

AMIT KUMAR

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.