उरई(जालौन)जिला पंचायत बोर्ड की बैठक में लगे पक्षपात के आरोप

उरई(जालौन)। जिला पंचायत बोर्ड की बैठक में कराएं गए विकास कार्यो पर विधायक सहित जिला पंचायत सदस्यों ने प्रश्नचिन्ह लगाया। अमृत सरोबर के साथ ही गांव के स्ट्रीट लाइट जिला पंचायत के सामने दुकानों का निर्माण आदि मुद्दों को लेकर बैठक में घमासान देखने को मिला।
केन्द्रीय मंत्री भानुप्रताप सिंह वर्मा के आतिथ्य में आयोजित बैठक मेें सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा ने जिला पंचायत के अमृत सरोबर के साथ ही जिला पंचायत के सामने नाले के ऊपर बनाई जा रही दुकानों का मुद्दा उठाया। इस पर जिला पंचायत अध्यक्ष डा. घनश्याम अनुरागी ने बताया कि जिला पंचायत द्वारा 6 अमृत सरोबर तैयार किए जा रहे है। सोमई के तालाब को पूर्ण बताने पर सदस्यों ने उन्हे निशाने पर लिया। स्ट्रीट लाइट लगाने के मामले पर मई जिला पंचायत सदस्य प्रियंका गौतम ने मई क्षेत्र में लाइट न लगाने का आरोप लगाया। सदस्यों ने नमामि गंगे योजना मंे गांव मं सीसी, इंटरलाॅकिंग एवं खंडजा की खुदाई कर सड़कों को ऐसे ही छोड़ देने के सवाल पर अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे विशाल यादव ने बताया िकइस योजना के बायोलाॅज मंे स्पष्ट है कि जब जलापूर्ति ट्रायल हो जाएगी तभी उखड़ी सड़कों को बनवाया जाएगा। बबीना जिला पंचायत सदस्य निर्दोष ने क्षेत्र मेें काम न कराने पर अध्यक्ष डा.घनश्याम अनुरागी पर आरोप लगाया और कहा कि विकास कार्यो की जो सूची उनके द्वारा दी गयी थी उन्हे तबज्जो नही दी गयी। जिला पंचायत सदस्यों ने प्रधानमंत्री आवास योजना में बड़े पैमाने पर धन उगाही का आरोप लगाया। इस पर केन्द्रीय मंत्री ने स्पष्ट किया कि अगर तथ्य सामने आ जाते है तो दोषियों को बख्शा नही जाएगा। बैठक में सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा के अलावा आशीष चतुर्वेदी, अरविंद चैहान, मुख्य विकास अधिकारी डा. अभय कमार श्रीवास्तव, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत विजय प्रताप वर्मा, जिला पंचायत उर्मिला सोनकर, मनोज याज्ञिक, मीनाक्षी पटेल, अमृता, कैलाश, ज्ञानसिंह, रणविजय सिंह आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.