सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश जालौन

कोई डराये धमकाये तो तुरंत करें सी विजिल एप पर शिकायत 100 मिनट में होगी कार्यवाही:जिला निर्वाचन अधिकारी

उरई,

कोई डराये धमकाये तो तुरंत करें सी विजिल एप पर शिकायत सी विजिल एप पर शिकायत आने पर 100 मिनट में होगी कार्यवाही- जिला निर्वाचन अधिकारी

जिला निर्वाचन अधिकारी प्रियंका निरंजन ने बताया कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 की तिथियों के ऐलान के साथ पूरे जनपद में आदर्श आचार संहिता के तहत कई तरह की पाबंदियां लगा दी है। आचार संहिता का पालन कराने के लिए पुलिस प्रशासनिक अफसरों को सख्त निर्देश दिए गए हैं प्रशासन भी आचार संहिता का पालन कराने में जुटा है। इसके बाद भी कहीं आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है तो कोई भी शिकायत दर्ज करा सकता है। आयोग ने हेल्पलाइन नंबर के साथ सी विजिल एप से भी शिकायत करने की सहूलियत मुहैया कराई है। जनपद में विधानसभा चुनाव पूरी पारदर्शिता के साथ लाने के लिए प्रतिबद्ध है। कहीं भी नियमों का उल्लंघन की शिकायत पर जल्द से जल्द निस्तारण की व्यवस्था की गई है। सी विजिल एप पर शिकायत करने पर 100 मिनट के अंदर इसका निस्तारण होगा। सी विजिल एप को किसी भी एंड्रॉयड मोबाइल पर बहुत ही सरलता के साथ डाउनलोड किया जा सकता है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि आचार संहिता का कड़ाई से अनुपालन कराने में यह काफी कारगर साबित होगा। इसके लिए आचार संहिता के उल्लंघन से संबंधित वीडियो क्लिप अपलोड की जा सकेगी सी विजिल एप पर शिकायतें सीधी संबंधित अधिकारियों के पास जाएंगे और संबंधित के विरुद्ध अनिवार्य रूप से उस पर कार्रवाई करनी होगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में यदि कोई प्रत्याशी या उसका कोई समर्थक मतदाताओं को प्रलोभन देता है उन्हें डराता या धमकाता है तो आप लोग सी विजिल एप के माध्यम से उसका ऑडियो वीडियो या फोटो खींचकर शिकायत दर्ज कराएं 100 मिनट के अंदर उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। सभी नागरिक इस सी विजिल एप का अधिक से अधिक उपयोग कर विधानसभा चुनाव को निष्पक्ष पारदर्शी तरीके से संपन्न कराने में अपनी भूमिका निभाएं।

 

 

ये भी पढ़ें :

जालौन-बॉलीवुड कलाकारों ने योगी सरकार से बुंदेलखंड में फिल्म सिटी बनाने की मांग की।

AMIT KUMAR

जालौन-वाइक सवार की अज्ञात वाहन/या जानवर से टकराने से हुई मौत।

AMIT KUMAR

जालौन-कुठौंद पुलिस ने चलाया कस्वा की नहर कोठी पर चैकिंग अभियान।

AMIT KUMAR

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.