सोनी न्यूज़
दिल्ली वीडियोस

गर्भवती महिला ने PM मोदी से लगाई गुहार,वीडियो हुआ वायरल

गर्भवती महिला को सॉफ्टवेयर कंपनी ने नौकरी से निकाला

अभी आप वीडियो में जिस महिला को सुन रहे थे उसका नाम पूजा शुक्ला है ये इस वक़्त गर्भवती है और जल्द ही माँ का सुख प्राप्त करने वाली है मगर इनकी इस खुशी को ग्रहण लग चुका है दरसल कोरोना काल में हज़ारों लोगों को नौकरी को लेकर समस्याओं का सामना करना पड़ा । कई लोगों की नौकरियां भी चली गई । ऐसे हज़ारों लोग है जिनपर आर्थिक संकट के साथ साथ बेरोजगारी की भी मार पड़ रही है । उन्ही में पूजा शुक्ला भी शामिल है पूजा शुक्ला गुरुग्राम के एक सॉफ्टवेयर कंपनी उघोग विहार फेस 2 में C1 India Private Ltd में पिछले 5 सालों से  काम करती आ रही थी। और अब कम्पनी ने इनको बाहर का रास्ता दिखा दिया।

पूजा को इसलिए निकाल दिया क्योंकि पूजा 6 महीने की गर्भवती है और कंपनी से वर्क फ्रोम होम की इजाज़त मांगी जो मांग कंपनी को नागवार गुजरी और कंपनी ने पूजा को नौकरी से निकालने का एलान कर दिया ।

नोएडा की रहने वाले पूजा शुक्ला ने आरोप लगाया है कि  लॉकडाउन लगने के बाद देशभर की निजी कंपनियों ने अपने कर्मचारियों से वर्क फ्रोम होम लिया ऐसे में
अपनी कंपनी के मैनेजर और एचआर को फोन करके और इमेल करके जानकारी दी कि वो गर्भवती है । पूजा ने ईमेल करके कंपनी को बताया कि इससे पहले भी जब वो गर्भवती थी तो उनको काफी कॉम्पलीकेशन हुए थे इसीलिए डॉक्टर ने ऑफिस आने जाने से मना किया है ।

पूजा का भी दावा है कि उन्होने भी वर्क फ्रोम होम किया । 21 सितंबर से पूजा का ऑफिस खुलने वाला था । पूजा ने बताया कि 15 सितंबर को पूजा ने अपनी कंपनी के मैनेजर और एचआर को फोन करके और इमेल करके जानकारी दी कि वो गर्भवती है । पूजा ने ईमेल करके कंपनी को बताया कि इससे पहले भी जब वो गर्भवती थी तो उनको काफी कॉम्पलीकेशन हुए थे इसीलिए डॉक्टर ने ऑफिस आने जाने से मना किया है ।

एक तरफ कोरोना काल चल रहा है और केंद्र सरकार द्वारा भी देशभर में एडवाइजरी जारी की गई है कि गर्भवती महिलाएं, बुजुर्गो और बच्चों को घर से बाहर नही जाना चाहिए इसीलिए पूजा ने कंपनी को बताया कि उन्हें दिसंबर 2020 तक वर्क फ्रोम होम की इजाज़त दी जाए । पूजा के इस अनुरोध पर कंपनी ने उन्हें दस दिन का वर्क फ्रोम होम करने की अनुमति भी दे दी लेकिन पूजा का आरोप है कि कंपनी ने दस दिन बाद उनपर दबाव बनाना शुरु कर दिया । और उन्हें बोला कि या तो वो रोज़ाना ऑफिस आए या फिर वो नौकरी छोड़ दे ।

13 अक्टूबर को कंपनी ने पूजा शुक्ला को ईमेल के जरिए बोल दिया कि 26 नवंबर 2020 आपका कंपनी में आखिरी दिन होगा और आपको नौकरी से निकाल दिया जाएगा । कंपनी ने अपने ईमेल में कहा कि कंपनी की पोलिसी के अनुसार और आपको नोटिस पीरियड के अनुसार आपको 26 नवंबर तक कंपनी के लिए काम करना पड़ेगा ।

अब ऐसे हालातो को देखते हुए पूजा ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से गुहार लगाई है कि उनकी और उनके होने वाले बच्चे के भविष्य के लिए मोदी जी सहायता करें और न्याय दिलाये। सुने पूरा वीडियो क्या कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पूजा शुक्ला ने

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

बाबा साहब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय हॉस्टल के छात्रों ने किया आंदोलन

Ajay Swarnkar

मुम्बई के जुहू में भी मनाई गई छठ पूजा भक्तो की उमड़ी भीड़

Ajay Swarnkar

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर पर एक और एफआईआर दर्ज

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.