सोनी न्यूज़
बिज़नेस उत्तर प्रदेश

दशहरी मंडियों में जाने को तैयार बढ़ता कटरपिलर का प्रभाव

 

लखनऊ । विश्व प्रसिद्ध मलिहाबादी दशहरी ने अपने स्वाद के कारण पूरी दुनिया का आकर्षण बना रखा है। लेकिन इस बार दुनिया के लोग दशहरे का स्वाद चखने से वंचित रह जाएंगे। उसका सिर्फ कारण है कोरोना ।

देश के सभी राज्यों में दशहरी आम सहित सभी आम देश के कोने कोने की मंडियों में जाने की सरकार ने छूट दे रखी है । ऐसे समय में कैटरपिलर नामक जिसे जाला रोग भी कहते हैं आम किसानों को परेशान कर रखा है। लगभग 15 दिन बाद मलीहाबादी दशहरी देश की मंडियों में पहुंचना शुरू हो जाएगी ।


मलिहाबाद में औसतन 6 लाख मैट्रिक टन आम का उत्पादन प्रतिवर्ष होता है। जिससे हजारों करोड़ का लाभ क्षेत्र के बागवान ओं सहित इससे जुड़े काम करने वाले मजदूरों को मिलता है ।
परन्तु कटरपिलर नामक कीटाणु अभी तक आम के बड़े साइज हो जाने पर भी बागों से समाप्त नहीं हुआ है। जिन बागों में आम के फल नहीं लगे हैं । उन बागों में आम की पत्तियों को खा कर के उन्हें नुकसान पहुंचा रहे हैं । किसानों को चाहिए कि तत्काल इस कटरपिलर से निजात पाने के लिए तुरंत छिड़काव करें। जिससे कि वह मलीहाबादी दशहरी साफ स्वच्छ सुंदर सुडौल आकर्षण रंग साथ ही अच्छा स्वाद बन सके। ऐसे में आमो की बागों में सिंचाई के साथ-साथ इसका स्प्रे भी तुरंत कराने की जरूरत है। अगर इस पर तुरंत ध्यान नहीं दिया गया तो मलिहाबाद क्षेत्र में होने वाले उत्पादन का दूसरे राज्यों की मंडियों में पहुंचना मुश्किल हो जायेगा। ऐसे में किसानों को बहुत हानिउठानी पड़ेगी। मलिहाबाद के माल ब्लाक के अमलौली गांव के अभय सिंह उर्फ तनु सिंह से उनकी बाग में छिड़काव के दौरान जो जमीनी हकीकत पाई गई है । वह यह है कि तुरंत बागवान ओं को सतर्क होकर अपनी बागों मैं छिड़काव कराएं । उसी पर एक बातचीत आपके साथ में————-

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

एनेक्सी में LIU सब इंस्पेक्टर और सुरक्षा कर्मियों के बीच मारपीट

Ajay Swarnkar

जालौन-उरई में अनियंत्रित ई रिक्शा नाले में जा गिरा।

AMIT KUMAR

दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति-दुःखद है:मायावती

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.