सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश

ऑक्सीजन की आपूर्ति के साथ लखनऊ पहुंची एक और गाड़ी

 

जीवन रक्षक ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों का निरंतर परिचालन जारी।*

वैश्विक महामारी से पीड़ित रोगियों के जीवन की रक्षा हेतु ऑक्सीजन की तत्काल उपलब्धता की दिशा में भारतीय रेल द्वारा की जाने वाली व्यवस्थाओं के अंतर्गत उत्तर रेलवे, लखनऊ मंडल द्वारा किए जाने वाले प्रभावी प्रयासों के तहत ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों का अविराम संचालन किया जा रहा है। इस व्यवस्था के अंतर्गत आज दिनांक 30.04.21को प्रातःकाल बोकारो से चलकर एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस 02 भरे टैंकरों के साथ लखनऊ आई तथा इन दो टैंकरों द्वारा 33.18 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति उपलब्ध कराई गई।साथ ही आज प्रातःकाल ही एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन को रीफिलिंग हेतु 03 खाली टैंकरों के साथ लखनऊ से बोकारो की ओर रवाना किया गया।इस प्रकार अब तक मंडल द्वारा दिनांक 24.04.21से 30.04.21तक कुल 06 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के द्वारा 23 भरे टैंकरों का संचालन करते हुए 301.04 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति उपलब्ध कराई गई साथ ही उक्त अवधि में 08 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों को खाली टैंकरों के साथ रीफिलिंग हेतु रवाना भी किया गया।आज रात्रिकाल तक एक और ऑक्सीजन एक्सप्रेस के लखनऊ आने की संभावना है।ग्रीन कारीडोर बनाकर इन ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों को अल्प समय में बिना किसी अवरोध के संचालित किया जा रहा है, ताकि ये ट्रेनें अविलंब अपने गंतव्य स्थानों तक पहुंच सकें।


मंडल रेल प्रबंधक, श्री संजय त्रिपाठी ने इस विषय में अवगत कराया कि राज्य प्रशासन के साथ एक स्पष्ट एवम प्रभावी नीति का निर्धारण करते हुए इन ट्रेनों के परिचालन का कार्य संपन्न सफलतापूर्वक संपन्न किया जा रहा है।उन्होंने यह भी बताया कि राज्य प्रशासन की मांग के अनुसार इन ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों का लगातार निर्बाध संचालन किया जाता रहेगा।महामारी की इन विषम परिस्थितियों के उपरांत भी मंडल अपनी सर्वोच्च सेवाओं के साथ निष्ठापूर्वक अपने राष्ट्र की सेवा हेतु तत्पर है

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

टोल न देने पर ड्राइवर को गाड़ी से खींच कर टोल कर्मियों ने की धुनाई

Ajay Swarnkar

जन शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही करने वाले अफसर नाम सहित हुये चिन्हित

Ajay Swarnkar

बबीना बबीना से बड़ी खबर:बैलडिगं के सिलेन्डर मे आग लगने से तीन युवक झुलसे

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.