सोनी न्यूज़
Other जालौन

जालौन-जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय मुहम्मदाबाद ब्लाक डकोर का आकस्मिक निरीक्षण किया

उरई(जालौन)।जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय मुहम्मदाबाद ब्लाक डकोर का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान विद्यालय के बच्चे बाहर कूदते हुये पाये गये जिस पर जिलाधिकारी द्वारा विद्यालय के अध्यापकों को फटकार लगाते हुये कहा कि यह विद्यालय हाईवे के किनारे होने के कारण कभी भी दुघर्टना हो सकती है जिससे बच्चों को विद्यालय का गेंट बन्द कर अन्दर ही रखे।

 

उन्होने विद्यालय परिसर में मैदान में घास-फूस होने के कारण उसे साफ-सफाई तथा बच्चों की झूला आदि की भी ठीक कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होने बालक एवं बालकाओं के शौचालय का भी निरीक्षण किया तथा साफ-सफाई रखने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी द्वारा रसोई घर का भी निरीक्षण किया जहां उन्होने खाना गैस से न बनाकर चूल्हे पर बना हुआ पाया जिस पर भी उन्होने कड़ी आपत्ति जाहिर की। उन्होने मीनू के हिसाब से बनाये गये खाने का निरीक्षण किया जिसमें रोटी, सब्जी बनी हुई पायी गई जो गुणवत्तापूर्ण नही पायी गयी। जिलाधिकारी द्वारा रसोई घर में उपलब्ध खाद्य साम्रगी को भी देखा जो खुले में तेल तथा मसाला रखे हुये पाये गये जिस पर उन्होने कहा कि इन सबकी पैकेट में ही लाकर इस्तेमाल करे। इसके उपरान्त जिलाधिकारी द्वारा कक्षा-6,7 व 8 की कक्षाओं में जाकर बच्चों के उपस्थिति पंजिका का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान बच्चों के अंकन के सापेक्ष उपस्थिति बहुत कम पायी गयी जिस पर भी उन्होने विद्यालय के प्राचार्य को फटकार लगाते हुये कहा कि आपकी व्यवस्था ठीक न होने के कारण बच्चों की उपस्थिति पूर्ण नही हो पा रही हैं। जिलाधिकारी द्वारा कक्षा-8 के छात्राओं से पन्द्रह का पहाड़ा पूछा एवं ब्लेक बोर्ड पर लिखवाया जिस पर छात्राओं द्वारा ठीक से नही लिखा गया। उन्होने हिन्दी में भी वाक्य बोलकर लिखवाया गया जिसका उच्चारण शुद्ध नही लिखा गया। जिलाधिकारी द्वारा इस प्रकार की पढ़ाई के स्तर खराब पाये जाने पर काफी चिन्ता जाहिर करते हुये कहा कि अगली बार पुनः निरीक्षण करूंगी यदि सुधार नही हुआ तो संबंधित अध्यापक के वेतन रोकने के आदेश दिये जायेगे। जिलाधिकारी द्वारा बच्चों के ड्रेस तथा जूते मोजे एवं बेग को भी देखा तथा कहा कि बच्चे ड्रेस साफ-सफाई से पहनकर आये।जिलाधिकारी द्वारा पुस्तकालय को भी देखा जो पुस्तके इधर-उधर बिखरी पायी गयी जिस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि पुस्तकों का रख रखाव ठीक से करे तथा बच्चों के पढ़ने हेतु इसे उपलब्ध भी कराये। उन्होने विद्यालय में उपस्थिति पंजिका को देखा जिसमें एक प्रधानाध्यापक,तीन सहायक अध्यापक, एक चपरासी अंकित थे।निरीक्षण के दौरान बेसिक शिक्षा अधिकारी मौजूद रहे जिस पर जिलाधिकारी द्वारा बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि विद्यालयों में जाकर पठन-पाठन तथा अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण करे तथा आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करे।
इसके उपरान्त उन्होने प्राथमिक विद्यालय कुसमिलिया विकास खण्ड डकोर का भी आकस्मिक निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान उन्होने पाया कि विद्यालय में चार अध्यापक जिसमें प्रधानाध्यापक मेडिकल पर एक सहायक अध्यापक आनलाईन आकस्मिक अवकाश पर पाया गया।जिलाधिकारी द्वारा विद्यालय में सभी अध्यापकों को नाम,पदनाम व फोटो न अंकित होने पर नाराजगी जाहिर की तथा कहा कि शीघ्र अंकित किये जाये। उन्होने विद्यालयों में बने बालक बालकाओं के शौचालय का भी निरीक्षण किया जिसमें दिव्यांग शौचालय नही बने है तथा शौचालय में अभी टाइल्स नही लगाये गये है जिस पर जिलाधिकारी ने कड़े निर्देश देते हुये कहा कि समस्त व्यवस्थाये शीघ्र सुनिश्चित करायी जाये। उन्होने रसोई घर का भी निरीक्षण किया जिसमें खाद्य साम्रगी की रख रखाव की व्यवस्था ठीक नही पायी गयी तथा खुले में रखे हुये पाये गये जिस पर उन्होने कहा कि खाद्य साम्रगी को सुरक्षित रखी जाये।उन्होने मीनू के हिसाब से बने हुये भोजन की भी निरीक्षण किया जिसमें खाना गुणवत्तापूर्ण नही पाया गया तथा मीनू के हिसाब से एक फल का वितरण किया जाना था जो नही किया गया जिस पर नाराजगी जाहिर करते हुये कहा कि जो मानक निर्धारित किया गया है उसी हिसाब से प्रबंध किया जाना चाहिये।
उन्होने बच्चों के उपस्थिति पंजिका का भी निरीक्षण किया जिसमें कुल 06 बच्चे उपस्थित पाये गये जबकि कुल बच्चों की संख्या 159 दिखायी गयी। जिलाधिकारी द्वारा पिछली दिनों की भी उपस्थिति देखी जिसमें 40-45 बच्चों की उपस्थिति दर्शायी गयी हैं जिस पर जिलाधिकारी ने उपस्थित सहायक अध्यापक को फटकार लगाते हुये कहा कि आप लोग शाम को उपस्थिति पूरी दिखा देते है और उसी हिसाब से भोजन आदि की भी व्यवस्था अभिलेखों में दिखाते हैं। उन्होने बच्चों के जूते मोजे देखे जो विद्यालय में पहनकर नही आये जिस पर उन्होने कहा कि विद्यालय में पहनकर आने के लिये प्रेरित करे। उन्होने मीनामंच को भी देखा जिसमें कहा कि इसकी भी साफ-सफाई बराबर की जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि मै दोबारा आऊंगी यदि व्यवस्थाओं में सुधार न लाया तो संबंधित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।

रिपोर्ट-अमित कुमार जनपद जालौन।

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

जालौन-एडीजी जोन कानपुर ने किया कालपी का दौरा।

Ajay Swarnkar

छुट्टी से लौटे पुलिस विभाग के कर्मचारियों को कोरेंटिन सेंटर का पुलिस अधीक्षक कानपुर देहात अनुराग वत्स ने किया निरीक्षण

Manoj Singh

जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने कलेक्ट्रेट स्थित अपने कक्ष में जनता दर्शन में आये सभी फरियादियों की समस्याएं सुनी।

AMIT KUMAR

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.