सोनी न्यूज़
धर्म

ध्यान रखे राखी बांधने के समय भद्रा नहीं होनी चाहिए.

राखी बांधने के समय भद्रा नहीं होनी चाहिए. किंवदंती हैं कि रावण की बहन ने उसे भद्रा काल में ही राखी बांध दी थी. इसलिए रावण का विनाश हो गया.


03 अगस्त, सोमवार को भद्रा सुबह 09.29 बजे तक है. रक्षाबंधन का त्यौहार सुबह 09.30 बजे से प्रारम्भ हो जाएगा.
दोपहर को 01.35 बजे से लेकर शाम 04.35 बजे तक बहुत ही उत्तम मुहुर्त है.
इसके पश्चात शाम 07.30 बजे से लेकर रात्रि 09.30 बजे के मध्य अति उत्तम मुहूर्त है.

ये भी पढ़ें :

जालौन-बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी की 130वीं जयन्ती मनाई गई।

AMIT KUMAR

अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद ने पीड़ितों के लिए 21000 का दिया चेक।

AMIT KUMAR

माधौगढ़-मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम में 21 जोड़ों ने एक दूजे के लिये खायी कसम।

AMIT KUMAR

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.