सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश उत्तराखंड जालौन दिल्ली पॉलिटिक्स बिहार मध्य प्रदेश

जालौन के सूचना विभाग ने आमजन के लिये जारी की अग्निवीरो के लिये “अग्निपथ योजना” की जानकारी

जनपद जालौन के सूचना विभाग के सहायक सूचना अधिकारी पंकज तिवारी ने सूचना विभाग के आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से “अग्निवीरो” को जागरूक करने के लिये विस्तृत जानकारी दी है।

👇ये है वो जानकारी👇
भविष्य के अग्निवीरो…
ऐसा समझो कि 4 साल के लिये गुरुकुल जा रहे हो।
और सबसे बड़ी बात… 22-23 की आयु में कितनों की जेब में ₹12 लाख होते हैं? (शादी ही 30 के बाद होती है)

● शरीर बलिष्ठ होगा
● बुद्धि विकास होगा
● डिग्री मिलेगी
● स्किल सीखोगे
● सरकारी नौकरी में प्राथमिकता मिलेगी
● स्वयं की, परिवार की, राष्ट्र की रक्षा कर सकते हो।
● बहुत कम उम्र में आर्थिक रूप से स्वतंत्र होगे।
● मन मुताबिक कोचिंग करो…IAS , PCS , डॉक्टर , इंजीनियर , बिजनेसमैन, जो इच्छा हो बनो।
● दुसरो के ऋणी नहीं होना पड़ेगा।
● स्वंतत्र निर्णय ले सकते हो।
● अपने कैरियर, व्यक्तिगत जीवन का अपनी इच्छा के अनुसार नींव रख सकते हो।

बड़े बुजुर्ग कह गए हैं…
“जब जेब गर्म रहती है बंधु, तो जो सफलता 5 साल में मिलने वाली होती है वह 2 साल में ही मिल जाती है।”

🙋🏻‍♂️यह अवसर है, इसका लाभ लीजिये !

इससे एक उज्जवल भविष्य बन सकता है।

🇮🇳अग्निपथ के अग्निवीर : भारत का रिजर्व फोर्स🇮🇳

भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह जी ने तीनो सेनाओं के अध्यक्षों के साथ मिल कर भारतीय रक्षा सेवा की “अग्निपथ योजना” का शुभारंभ किया। इसके अंतर्गत साढ़े 17 वर्ष से लेकर 23 वर्ष तक के युवक और युवतियों को सेना के तीनो अंगो, थलसेना, वायुसेना और नौसेना में 4 वर्ष के लिए शामिल किया जाएगा जिन्हे “अग्निवीर” के नाम से जाना जाएगा।

इस चयन प्रक्रिया के प्रथम चरण में आगामी 90 दिनों में 40,000 युवक और युवतियों को चुना जाएगा।

अग्निवीरों को प्रथम वर्ष में ₹40,000, द्वितीय वर्ष में ₹43,000 तृतीय वर्ष में ₹46,000 और चतुर्थ वर्ष में ₹50,000 रुपए प्रति माह मिलेंगे। इसमें से चार वर्षों में ₹5.52 लाख रिटायरमेंट फंड के लिए दिए जाएंगे। जब एक अग्निवीर 4 वर्ष बाद इस से निकलेगा तब उसे ₹11.04 लाख मिलेंगे क्योंकि काटे गए फंड के बराबर का योगदान भारत सरकार भी उसमे देगी।

मतलब जब एक अग्निवीर 4 साल बाद निकलेगा तो उसके पास लगभग ₹12 लाख होंगे जिससे वो कोई ढंग का बड़ा कार्य कर सकेगा।

साथ में इन अग्निवीरों में से 25% लोगों की भारतीय सेना में सीधे भर्ती होगी। शेष 75% लोग जब 4 वर्ष बाद भारतीय सेना छोड़ेंगे तब सभी को उनकी योग्यता के अनुसार शिक्षा का सर्टिफिकेट मिलेगा जो सभी जगह मान्य होगा। साथ में जिस स्किल में वे प्रशिक्षित होंगे उसका स्किल डेवलपमेंट का प्रमाणपत्र भी मिलेगा। भारत सरकार इतना करने के साथ ही उन्हें स्वयं का उद्यम शुरू करने के लिए बैंक से ऋण देने की गारंटी देगी।

यदि प्रत्यक्ष लाभों को देखा जाए तो 10वीं पास एक नौजवान जिसकी उम्र 22 साल से कम है, उसके लिए अपने अंदर के हुनर को पहचान उसे भारतीय सेना के अनुशासन में सीखने का स्वर्णिम अवसर है। ये उन्हें एक तरफ आत्मविश्वास और स्वाभिमान देगा वहीं पर काफी कम उम्र में ही स्वतः लोगो को रोजगार देने वाला उद्यमी बनने का सुअवसर भी प्रदान करेगा।

इसके साथ ही ये योजना भारतीय सेना पर बढ़ रहे पेंशन और अन्य खर्चों के दबाव से भारत सरकार को राहत देगा जिससे सरकार को सेना के आधुनिकीकरण में काफी मदद मिलेगी।

ये राष्ट्र की सुरक्षा की दिशा में मोदी सरकार द्वारा उठाया गया बेहतरीन कदम है जो दिन प्रतिदिन बढ़ रही चुनौतियों से निपटने में काफी सहायक होगा।

अभी जैसा देश और विश्व का माहौल है, उसको देखते हुए भारत को आने वाली चुनौतियों से सावधान रहना होगा। इस समय भारत एक लंबे अंतराल तक चलने वाले, इस दशक में होने वाले एक बड़े महायुद्ध की तैयारी कर रहा है। यह युद्ध सिर्फ भारत की सीमाओं या बाहर ही नहीं लड़ा जाएगा बल्कि देश के अंदर भी होगा।

जनरल रावत ने कहा था कि हमें 2.5 फ्रंट की लड़ाई लड़ने के लिए तैयारी करनी होगी। इनमे .5 फ्रंट सबसे घातक है। ये वो हैं जो देश के अंदर से देश पर हमला कर रहे हैं।

कुछ वर्षों बाद जब ये अग्निवीर सेना के अनुशासन से लैस और राष्ट्रीयता की भावना से ओत-प्रोत हमारे समाज का हिस्सा बनेंगे तो इन आंतरिक दुश्मनों से निपटने में काफी आसानी होगी।

भारत प्रशिक्षित युवाओं की एक ऐसी फौज तैयार कर रहा है जो रिजर्व फोर्स की तरह काम करेगा। जो आपातकालीन स्थिति में भारत की रक्षा करने के लिए उपलब्ध होंगे।

विश्वास है कि भारत इन अग्निवीरों की मदद से 2.5 फ्रंट के साथ साथ आने वाली सभी चुनौतियों पर सफलतापूर्वक विजय पा जाएगा।

कुल मिला कर ये योजना भारत देश और समाज के लिए बहुत ही लाभदायक है और अभूतपूर्व बदलाव लाने वाली है।
🇮🇳#अग्निपथ
जॉब आर्मी की है, रहना खाना, इलाज वगैरह सब फ्री है, मतलब जो उम्र नुक्कड़ों पर चाय सिगरेट में निकल जाती है, उन 4 सालों में 23 लाख 43 हज़ार 160 रुपये कमाने का सुनहरा अवसर है।
पहला साल- 21,000×12 = 2,52,000
दूसरा साल- 23,100×12 = 2,77,200
तीसरा साल- 25,580×12 = 3,06,960
चौथा साल- 28,000×12 = 3,36,000
____________________________
4 साल सैलरी = 11,72,160 रुपए
रिटायरमेंट पर = 11,71,000 रुपए
____________________________
Total = 23,43,160 रुपए
आप 17 से 23 साल की उम्र के लड़के अग्निपथ योजना के तहत भारतीय सेना को जॉइन जरूर कीजिए। समझिए आपको 4 साल आर्मी की ट्रेनिंग दी जाएगी, साथ मे पैसे भी, जॉब वैसे भी नहीं है, बारहवीं या ग्रेजुएशन करने के बाद सीधे अग्निपथ के रास्ते पर चले जाइए, यही आपका भविष्य है।
उसके बाद 24-25 की उम्र में रिटायरमेंट के बाद, इन पैसों से कोई बिजनेस शुरू कर लीजिएगा.. लाइफ जैसी अभी चल रही है उससे बेहतर तय है।
सोचिए 24 की उम्र में zero से आर्मी ट्रेनिंग के साथ कुल मिला कर 11 लाख रूपये सैलरी के रूप में मिलने वाला पूरा पैसा अगर आप ख़त्म भी कर देते हैं तो रिटायरमेंट के वक़्त मिलने वाला 11 लाख 71 हजार रुपए कम नहीं है।


👉 आप अग्निपथ योजना के विरोध का हिस्सा मत बनिए बल्कि अपना भविष्य सुरक्षित कीजिए।

२०२२ के लिए अग्निपथ योजना की अधिकतम प्रवेश आयु बढ़ाई गयी

अग्निपथ योजना के अंतर्गत सशस्त्र बलों में अग्निवीरों के लिए प्रवेश आयु 17 ½ – 21 वर्ष निर्धारित की गई थी।

इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि पिछले दो वर्षों के दौरान भर्ती करना संभव नहीं हुआ है, सरकार ने निर्णय लिया है कि 2022 के लिए प्रस्तावित भर्ती साइकल के लिए वन-टाइम छूट दी जाएगी।

तदनुसार, 2022 के साइकल के लिए अग्निपथ योजना भर्ती प्रक्रिया के लिए अधिकतम आयु सीमा को बढ़ाकर 23 वर्ष कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें :

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने महोबा में विशाल प्रतिज्ञा रैली को किया सम्बोधित

Ajay Swarnkar

मनुष्य को जीवन में एक पेड़ जरुर लगाकर उसे सुरक्षित भी रखना चाहिए-शालिगराम पांडेय

AMIT KUMAR

जालौन में धनगर समाज के अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र न बनने को लेकर किया विशाल धरना प्रदर्शन।

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.