सोनी न्यूज़
जालौन

जालौन-चीन सीमा पर तैनात जवान की ऑक्सीजन कमी के कारण शहीद हो गया।

 

जालौन-चीन सीमा पर तेनात जवान की ऑक्सीजन कमी के कारण शहीद हो गया था।आज शुक्रवार को उसका पार्थिव शरीर पैतृक गांव पहुंचा,जहां राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।अंतिम विदाई में विधायक गौरीशंकर के साथ उपजिलाधिकारी सतेंद्र सिंह के साथ पूरा गांव उमड़ा हुआ था।
आपको बता दे कि ग्राम जैसारी कला गांव के रहने वाले शहीद जवान धर्मपाल का चयन 2001 में भारतीय सेना में हुआ था। धर्मपाल सिंह भारतीय थल सेना के आर्टिलरी में हवलदार थे। धर्मपाल सिंह की तैनाती भारत-चीन बॉर्डर LAC पर लद्दाख की पहाड़ियों पर थी, पहाड़ों पर ऑक्सीजन की कमी से उनकी हालत बिगड़ गई थी, हालत गंभीर होने पर उन्हें चंडीगढ़ के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया जहां उपचार के दौरान उनका 5 अगस्त को निधन हो गया। धर्मपाल सिंह की पहली तैनाती वर्ष 2001 में जोधपुर में हुई थी। 2005 में उनकी शादी हुई, उनके 2 बच्चे हैं, जिसमें एक बच्चे की पिछले वर्ष जन्म दिन में हुई हर्ष फायरिंग के दौरान मौत हो गई थी। आज धर्मपाल का पार्थिव शरीर जैसे ही उनके गांव पहुंचा पूरा गांव गमगीन हो गया और उन्हें अंतिम विदाई देने के लिये उमड़ पड़ा। जहां भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे से पूरा गांव गूंज गया। शहीद जवान धर्मपाल का पूरे राजकीय सम्मान के अंतिम संस्कार किया गया। उनके निधन से परिजनों के साथ ग्रामीणों का रो-रो कर बुरा हाल है। शहीद जवान धर्मपाल तीन भाई थे जिसमें वह दूसरे नंबर थे,बड़े भाई महिपाल सिंह, छोटे भाई इंद्रपाल गांव में खेती करते है।

रिपोर्ट-अमित कुमार जिला क्राइम रिपोर्टर soni news जनपद जालौन।

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

विश्व मानवाधिकार परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष को ब्राजील एवं अरब की संस्थाओं ने डॉक्टर की मानद उपाधि किया सम्मानित

AMIT KUMAR

खंड विकास अधिकारी ने कुठौंद का चार्ज संभाला

Lavkesh Singh

जल शक्ति मंत्री ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का उड़नखटोला से किया हवाई सर्वेक्षण

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.