प्रचार
  • पूरे उत्तर प्रदेश में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-9415596496 -9935930825 -पूरे बुन्देलखण्ड शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अशफाक अहमद बुन्देलखण्ड व्यूरो-मो-9838580073 -जनपद जालौन में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-रंजीत सिंह-मो-8423229874,श्यामजी सोनी मो-9839155683,अमित कुमार मो-7526086812,जनपद झाँसी में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अरुण वर्मा मो-9455650524-जनपद आजमगढ़ में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-रामानुजाचार्य त्रिपाठी मो-9452171219-जनपद कानपुर देहात में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-मनोज कुमार सिंह मो-9616891028-
उत्तर प्रदेश वीडियोस

जालौन-भगवती मानव कल्याण संगठन ने अपनी मांगो को लेकर किया धरना प्रदर्शन।

उरई शहर के जिला परिषद प्रांगण में भगवती मानव कल्याण संगठन के कार्यकर्ता जुझारू सिंह के ऊपर पुलिस प्रशासन के उत्पीड़न के विरोध में अनिश्चितकालीन विशाल धरना प्रदर्शन किया गया, वही जिला प्रशासन/पुलिस प्रशासन के प्रतिनिधि के रूप में उरई सिटी सीओ सन्तोष कुमार उपस्थित रहे। वही उरई सीओ सिटी सन्तोष कुमार ने न्यायपूर्ण कार्यवाही कराये जाने के आश्वासन पे संगठन के पदाधिकारियों द्वारा केंद्रीय कार्यालय के निर्देशन में धरना को समाप्त किया गया। भगवती मानव कल्याण संगठन शाखा उरई,औरैया, कानपुर देहात एवं अन्य जनपदों से हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे। वही जुझारू सिंह ने बताया कि खनन माफियाओं से मिलकर थाना प्रभारी पूर्व विनोद कुमार मिश्रा के द्वारा जुझारू सिंह पुत्र देशराज सिंह निवासी ग्राम ऐर थाना डकोर जो कृषि कार्य के साथ उरई में सरिया सीमेंट का व्यापार भी करते हैं उनके विरुद्ध पुलिस द्वारा शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न कर खनन माफियाओं द्वारा वह ग्राम प्रधान हदेश राजपूत उर्फ सोनू द्वारा अवैध शराब व्यवसाय व अवैध खनन ग्राम वासियों को पुलिस द्वारा उत्पीड़न किया गया।

ये भी पढ़ें :

राष्ट्रीय सेवायोजन का सातवें दिन हुआ समापन

Ajay Soni

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने तीन सौ से अधिक पौधे लगाए

Ajay Soni

सौरभ सागर महाराज के आगमन पर सैकड़ो श्रदालुओं ने लगाए जय गुरुदेव के नारे

Ajay Soni

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.