जालौन-जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की वर्चुअल समीक्षा बैठक कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उरई(जालौन)।जिलाधिकारी राजेश कुमार पाण्डेय ने बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की कलेक्ट्रेट सभागार में वर्चुअल समीक्षा बैठक कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने कड़े निर्देश देते हुए कहा कि कायाकल्प पैरामीटर के तहत स्कूलों में दिव्यांग शौचालय व टायलीकरण आदि कायाकल्प का अवशेष कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए, साथ ही समय से कार्य पूर्ण न होने की दशा में सभी संबंधित अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि से दंडित किया जाएगा।
उन्होंने समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया कि पंजीकृत छात्रों की शतप्रतिशत उपस्थिति के साथ-साथ इस बात को भी सुनिश्चित करें के सभी छात्र प्रॉपर यूनिफॉर्म में विद्यालय आए। सभी विकास खण्डों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षण कार्य सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि छात्र उपस्थित को बढ़ाया जाये। सभी ब्लॉक जहाँ पर स्मार्ट क्लास संचालित हो रही है, संचालन का प्रस्तुतिकरण करें। सभी विद्यालय निपुण बने इसके लिए सभी शिक्षक डिजिटल टूल्स का नियमित उपयोग करें।
सभी विद्यालय आगामी निपुण आकलन परीक्षा तथा नेट परीक्षा के पहले सभी बच्चों का आन्तरिक मूल्यांकन करके, उन्हें निपुण बनाने तथा उनकी ग्रेड सुधारने के लिए कार्य करें। जिलास्तरीय टास्क फ़ोर्स एव ब्लाक स्तरीय टास्क फ़ोर्स को शत प्रतिशत निरीक्षण करने के निर्देश दिए साथ ही सभी खंड विकास अधिकारियो को निर्देशित किया गया की जल्द से जल्द सभी परिषदीय विद्यालयों में दिव्यांग शौचालय एवम कक्षा कक्ष में टायलीकरण का कार्य कराना सुनिश्चित करे सभी खंड शिक्षा अधिकारी स्मार्ट क्लास की सूचना प्रजेंटेशन अगली बैठक में प्रस्तुत करे आर टी ई के तहत जिन प्राइवेट स्कूलों ने बच्चो का एडमिशन लेने से इंकार किया है, उन विद्यालयों को नोटिस जारी कर मान्यता समाप्त की जाय।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी भीमजी उपाध्याय, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरेंद्र देव शर्मा, बेसिक शिक्षा अधिकारी चंद्र प्रकाश, समस्त खंड विकास अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी आदि सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट-अमित कुमार उरई जनपद जालौन उत्तर प्रदेश।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.