सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश धर्म

जालौन-पंचनद स्नान मेला में नहीं आए अपेक्षित श्रद्धालु,दुकानदार मायूस

जगम्मनपुर(जालौन)।बुंदेलखंड के प्रसिद्ध पंचनद संगम तीर्थ पर इस वर्ष श्रद्धालुओं की अपेक्षित भीड़ न जुटने से मेले में आए दुकानदारों में मायूसी दिखी।बुंदेलखंड के बड़े धार्मिक मेलों में शुमार जनपद जालौन के पंचनद संगम का स्नान मेला इस वर्ष श्रद्धालु व स्नानार्थियों की कमी के चलते फीका रहा।
गत दो वर्षों से कोरोना महामारी के कारण शासन प्रशासन की ओर से किसी भी प्रकार के धार्मिक मेलों के आयोजन पर कड़ा प्रतिबंध रहने से पंचनद का मेला भी आयोजित नहीं हो सका, इस वर्ष कोरौना महामारी से कुछ राहत मिलने पर पंचनद मेला का आयोजन होने की जानकारी होने से दूर-दूर के अनेक दुकानदार अपनी-अपनी दुकानें लेकर इस उम्मीद के साथ आए थे कि दो वर्षों से मेला न लगने के बाद अब तीसरे वर्ष मेला का आयोजन हो रहा है तो निश्चय ही अधिक व्यापार होगा ।
गत तीन वर्ष पूर्व इस स्नान मेला में तकरीबन
एक से डेढ़ लाख तक श्रद्धालु पंचनद संगम में स्नान करते थे लेकिन इस वर्ष यह संख्या 25- 30 हजार से अधिक नहीं हुई। माना जा रहा है कि अधिक महंगाई ने गरीब व किसानों की कमर तोड़ दी है जिस कारण वह मेला में खरीददारी पर उत्साह नहीं दिखा सके।
वही दूसरा कारण किसान कृषि कार्य में व्यस्त होने के कारण मेला आने में असमर्थ रहे।
श्री बाबा साहब मंदिर के महंत सुमेरवन ने बताया कि पूर्णिमा की सुबह से पूरे दिन मंदिर में प्रवेश करने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ती थी वहीं इस वर्ष सहजता से श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।
मेला में एवं स्नान घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। क्षेत्राधिकारी माधौगढ़ के नेतृत्व में रामपुरा थाना पुलिस एवं उपजिलाधिकारी माधौगढ़ के निर्देशन में प्रशासनिक अधिकारी मुस्तैदी के साथ मेले पर सुरक्षात्मक कडी दृष्टि रखे देखे गए।

रिपोर्ट-अमित कुमार उरई जनपद जालौन उत्तर प्रदेश।

ये भी पढ़ें :

जालौन में धनगर समाज के अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र न बनने को लेकर किया विशाल धरना प्रदर्शन।

Ajay Swarnkar

हमारे बिना सहयोग के यूपी में सरकार नहीं बनेगी- मलखान सिंह (रालोद)

Ajay Swarnkar

हेल्थ व एजुकेशन अवार्ड से ममता स्वर्णकार व अमित हुए सम्मानित ।

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.