सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश जालौन

*प्रयास संस्था व युवाशक्ति टीम ने मैला ढोने बाले(स्वच्छकार), विधवा व बेसहारा गरीब परिवारों को किया राशनकिट वितरण*


कुठौंद- प्रयास संस्था व युवाशक्ति पंचायत लीडरों की टीम ने जनपद में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित गांव के गरीब मैला ढोने बाले स्वच्छकार परिवार,विधवा, दिव्यांग, गरीब बेसहारा आदि परिवारों को आज सिरसा कलार में एक साथ सभी लोगों को राशन सामग्री वितरित की।
बुंदेलखंड दलित अधिकार मंच व युवाशक्ति टीम ने प्रेक्सिस संस्था दिल्ली के सहयोग से कुठोंद ब्लॉक के विभिन्न गावँ के 35 परिवारों को राशन किट वितरित की।
इस दौरान ब्लॉक कॉर्डिनेटर – नरपाल सिंह पाल ने बताया कि हमारी संस्था इन समुदाय के लिए काम करती है, वालंटियर व पंचायत लीडरों ने गांव गांव में सर्वे करके मैला ढोने बाले, विधवा व बेसहारा गरीब परिवारों का सर्वे किया और देखा कि आज इनकी हालात सबसे ज्यादा खराब है, खासकर विधवा व बेसहारा महिलाएं आज बो हर तरह से खाने के लिए मोहताज हो रही है लेकिन किसी ने इनकी मदद नही की वहीं हमारी संस्था ने आगे आकर इन परिवारों को राशन किट में 10किलो आटा, 5 किलो चावल, 1किलो – अरहर दाल, 1 किलो – चना दाल, 500 ग्राम सोयाबीन, 1किलो नमक,मिर्च, धनिया, हल्दी व गर्म मसाले,1किलो शक्कर, चाय, बिस्कुट, 10 साबुन कपड़े एवं नहाने बाले आदि सामग्री देकर मदद की व आगे भी करते रहेंगे।
बुंदेलखंड दलित अधिकार मंच के संयोजक कुलदीप कुमार बौद्ध ने कहाँ संगठन के सर्वे में निकलकर आया है आज इन परिवारों के हालात बहुत ही खराब है, टीम दुवारा प्रत्येक परिवार की स्टोरी/आपबीती लिखी गयी है जो उनके पूरे हालात को बयां करती है।कोरोना का सबसे ज्यादा प्रभाव इन परिवारों पर पढ़ा है,ऐसे में सभी को इनकी मदद में आगे आना चाहिए, खासकर सरकार को, और इसके लिये संगठन लगातार प्रयास कर रहा है।
आज् प्रमुख रूप से नीरज कुमार ,अंशुल याज्ञिक रक्षा कुशवाहा, मीना, मोहिनी सोनम ,विपिन, विष्णु पाल ,शांतना, रंजीत गौतम, गोल्डी ,जितेंद्र ,अनु यादव शमा बेगम ,हरि सिंह आदि लोग मौजूद रहे।
*रिपोर्ट:जनपद जालौन के कुठौंद से soni news के लिए लवकेश सिंह*

ये भी पढ़ें :

जालौन-गोली मारकर की महिला की हत्या।

Ajay Swarnkar

हमीरपुर-मुलायम परिवार की करीबी डॉ.वंदना की पंचायत अध्यक्ष कुर्सी गई 

Ajay Swarnkar

नालियो का निर्माण न होने से लोगो मे रोष

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.