सोनी न्यूज़
प्रचार
  • राजधानी लखनऊ में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-8299589254 निखिल श्रीवास्तव संवाददाता–लखनऊ,पूरे उत्तर प्रदेश में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-9415596496 -9935930825 -पूरे बुन्देलखण्ड शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अशफाक अहमद बुन्देलखण्ड व्यूरो-मो-9838580073 -जनपद जालौन में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे--मो-8299896742,श्यामजी सोनी मो-9839155683,अमित कुमार मो-7526086812,जनपद झाँसी में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अरुण वर्मा मो-9455650524-जनपद आजमगढ़ में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-रामानुजाचार्य त्रिपाठी मो-9452171219-जनपद कानपुर देहात में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-मनोज कुमार सिंह मो-9616891028-
Uncategorized

17 सितम्बर सन 1950 में सोहराब मोदी की फिल्म “भिखारियों का सरदार” रिलीज़ हुई थी।

आज ही के दिन 17 सितम्बर सन 1950 में सोहराब मोदी की फिल्म “भिखारियों का सरदार” रिलीज़ हुई थी।
आज इसके कोई प्रिंट्स मौजूद नहीं है, फिल्म बुरी तरह फ्लॉप रही थी।
.

फिल्म की कहानी थी के एक भिखारी को सड़क से उठाकर एक व्यापारी एक राज्य का राजा बना देता है,
लेकिन चूंकि भिखारी को राजपाठ का कोई एक्सपीरियंस नहीं होता इसलिए वो पूरे राज्य का बंटाधार कर देता है,
दुश्मन राजा की सेना उसके राज्य की सीमा पर पड़ने वाले गाँव कब्ज़ा लेती है,
और जनता में भुखमरी आ जाती है जिस कारण सैकड़ों लोग खाने में तलाश में अपने घरों से निकल जाते हैं और रास्ते में मारे जाते हैं,
.

फिल्म के अंत तक भिखारी एक दम राजसी गेटउप में आ जाता है दाढ़ी बढ़ा के, लेकिन तबतक राज्य की माली हालत इतनी खराब हो जाती है की वो चाहकर भी कुछ नहीं कर पाता है।
पूरा राज्य भिखारियों का राज्य बन चूका होता है,
बिलकुल उसकी तरह ही।

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

उत्तर प्रदेश राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति पत्रकारों की सहायता के लिए सी एम योगी से की माँग और लिखा पत्र

Soni News

जालौन-ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष तथा सीओ एसडीएम की मौजूदगी में कार्यालय पर वितरण किया गया भोजन सामग्री।

Anmol Kumar

देवी त्रिपुरा सुंदरी के नौ स्वरूपों की पूजा-अर्चना की जाती है. जानिए वो कौन से है नौ रूप

Divyansh Pratap Singh

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.