सोनी न्यूज़
प्रचार
  • राजधानी लखनऊ में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-8299589254 निखिल श्रीवास्तव संवाददाता–लखनऊ,पूरे उत्तर प्रदेश में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-9415596496 -9935930825 -पूरे बुन्देलखण्ड शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अशफाक अहमद बुन्देलखण्ड व्यूरो-मो-9838580073 -जनपद जालौन में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे--मो-8299896742,श्यामजी सोनी मो-9839155683,अमित कुमार मो-7526086812,जनपद झाँसी में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अरुण वर्मा मो-9455650524-जनपद आजमगढ़ में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-रामानुजाचार्य त्रिपाठी मो-9452171219-जनपद कानपुर देहात में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-मनोज कुमार सिंह मो-9616891028-
जालौन

जालौन-सुहागिन महिलाओ ने वट वृक्ष की पूजा कर अपने पति की लम्बी उम्र का मांगा वरदान।

कालपी(जालौन)-आज कालपी नगर मे प्रमाणित हो कि महिलाएं आज के दिन की जेठ अमावस्या को सुहागन महिलाएं पूजा की थाली लेकर वट वृक्ष की पूजा कर अपने पति की दीर्घायु के लिए वट सावित्री व्रत रखती हैं।आज के दिन वट सावित्री व्रत रखकर महिलाएं वृक्ष के नीचे कथा के अनुसार मैं जिससे विवाह कर रही हूं उनकी अल्प आयु है जब उनसे यह बात पूछी गई तो उनका उत्तर था कि भारतीय नारी एक बार जिसको पति मान लेती है उसीसे विवाह करती है। मेने सत्यवान को ही अपना पति मान लिया है ।कुछ समय के बाद सत्यवान की मृत्यु हो गई सावित्री अपने पति के सर को गोद में रख कर एक वट वृक्ष के नीचे बैठी थी उसी समय भगवान यमराज आपने कई यम दूतों के साथ आए और सत्यवान के प्राण लेकर चल दिए कुछ दूर चलने के बाद जब यमराज ने देखा तो सावित्री भी पीछे पीछे आ रही थी यमराज ने कहा तुम वापस लौट जाओ मगर सावित्री नही लौटी और कहा में वही रहूंगी जिस पर यमराज ने कहा ठीक है तुम मुझसे तीन वर मांग लो और वापस चली जाओ सावित्री ने प्रथम वर मे अपने अंधे सांस ससुर की ज्योति मांगी द्वितीय वर मे अपने ससुर का खोया हुआ राज्य मांगा और तीसरे वर मे 100 पुत्रो की मां बनने का वरदान मांगा यमराज ने कहा तथास्तु। सावित्री को 100 पुत्रो की मां बनने के वरदान देने से यमराज को उनके पति के प्राण लौटाने पड़ें। और सावित्री वापस उसी वट वृक्ष के नीचे आ गई जहां कुछ देर बाद ही उनके पति जीवित हो गए।तब से सभी सुहागन भारतीय स्त्रियां अपने पति की लम्बी उम्र के लिए यह वृत करने लगी। जिसके अनुसार महिलाएं वृत रखकर वट वृक्ष( बरगद) की विधि विधान से पूजा करती है।तथा सरबत खरबूजा अर्पित कर वृक्ष मे कच्चे धागे को लपेटते हुए परिकृमा कर अपने सुहाग को अमर करने का वरदान मांगती है।वही इस पूजा पर लॉक डाउन का भारी असर दिखाई दिखाई।

रिपोर्ट-अमित कुमार जनपद जालौन।

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

जालौन-बड़ी माता मंदिर समिति के सदस्यों ने बांटे लंच पैकेट।

Anmol Kumar

जालौन-लॉक डाउन का उल्लघंन करने वालों पर चला कानूनी हंटर।

Ajay Swarnkar

श्री इण्स्ट्रीज द्वारा महिला सशक्तिकरण हेतु मिशन शक्ति का हुआ आयोजन

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.