सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश जालौन

थाना कुठौंद में संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान डी०एम० व एस०पी० ने पीड़ित फरियादियों की सुनी ‌फरियाद*


कुठौंद-जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन एवं पुलिस अधीक्षक रविकुमार ने थाना कुठौंद में पहुंचकर जन समस्याएं सुनी दोनों अधिकारियों ने शिकायत निस्तारण करने के संबंधित को निर्देश दिए ।
शनिवार को बिना सूचना डी एम और सिविल ड्रेस एसपी थाना कुठौंद आ गये थाना दिवस में पहुंचकर डीएम प्रियंका निरंजन और एसपी रवि कुमार तथा उप जिला अधिकारी अशोक कुमार ने फरियादियों की समस्याओं से रूबरू होकर समस्याएं सुनी इस दौरान 5 जमीनी विवाद की शिकायतें और 3 पुलिस विभाग की शिकायतें आई । जिसमे अधिकारियों ने शिकायत कर्ताओं को आश्वस्त किया कि आज ही राजस्व की टीम भेजकर समस्या का निस्तारण कराया जाएगा डीएम प्रियंका निरंजन ने थाना दिवस में कम फरियादियों को देखकर थाना प्रभारी को थाना दिवस के लिये क्षेत्र में प्रचार प्रसार करने को कहा एवं जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने कहां की मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर से जो भी शिकायतें आती हैं उनको गंभीरता से लें एवं उनका जल्द से जल्द निस्तारण करें पुलिस अधीक्षक रवि कुमार ने थाना प्रभारी अरुण कुमार तिवारी को निर्देश देते हुए कहा कि जो भी मुख्यमंत्री पोर्टल से समस्याएं आती हैं उनका जल्द से जल्द निस्तारण किया जाए और शिकायतकर्ता का फीडबैक जरूर लिया जाए कुठौंद क्षेत्र के ग्राम मशगांव व हार शंकरपुर कुठौंद से जमीनी विवाद की शिकायते ज्यादा आयी जिसमे कुछ फरियादियों की समस्या उनके परिवारिक जमीन बटवारा को लेकर आई। थाना दिवस में आई 8 शिकायते आयी जिसमे मौके ओर 5 का निस्तारण किया गया थाना दिवस में डीएम एसपी ने मात्र 30 मिनट का ही समय दिया इस मौके पर थाना प्रभारी अरुण तिवारी और क्षेत्र के हरेन्द्र कुमार वर्मा, विनोद कुमार राकेश मिश्रा रोहित कुमार महेश बौद्ध पुष्पेंद्र कुमार सीमा देवी अभय कुमार ओम प्रकाश अमित कुमार ,एवं साथ मे रधुराज सिंह राजावत चौथ प्रधान मौजूद रहे ।
*रिपोर्ट:जनपद जालौन के कुठौंद से soni news के लिए लवकेश सिंह*

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

बनारस नरेन्द्र मोदी फ़िल्म के प्रमोशन के लिए गंगा का आशिर्वाद लेने पहुचे विवेक ओबेरॉय

Ajay Swarnkar

Lucknow-अब मदरसों के ड्रेस कोड को लेकर भी सरकार गंभीर

Ajay Swarnkar

Jhansi-18 वर्षीय किशोर फांसी के फंदे पर जंगल में पाया गया ! 

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.