सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश

तालकटोरा रोड का नाम अब वरिष्ठ व्यापारी नेता पं० श्याम बिहारी मिश्र पर होगा,बनेगा श्याम बिहारी मिश्र चौक : संयुक्ता भाटिया महापौर

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे वरिष्ठ व्यापारी नेता पं० श्याम बिहार मिश्र की वर्चुअल श्रद्धांजलि सभा में लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया ने वरिष्ठ व्यापारी के नाम पर तालकटोरा रोड का नामकरण करने एवं एक चौराहे का नाम उनके नाम पर करने की घोषणा करते हुए व्यापारी नेता को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

इस मौके पर दिवंगत पं० श्याम बिहारी मिश्र के पुत्र (प्रांतीय अध्यक्ष)  मुकुन्द स्वरूप मिश्र उपस्थित रहे। सभा का संचालन प्रांतीय मीडिया प्रभारी योगेन्द्र सिंह ने किया।

सभा में उपस्थित चेयरमैन सुमेर अग्रवाल, नगर अध्यक्ष हरि अग्रवाल, महामंत्री अमरनाथ अग्रवाल, युवा व्यापारी नेता रमन मिश्रा ने भी अपने सम्बोधन में महापौर के सामने यह प्रस्ताव रखा कि स्व. पं श्याम बिहारी मिश्र व्यापारी जगत के मसीहा है उन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन व्यापारी समाज की सेवा में दिया।  इसलिए लखनऊ में स्व.श्याम बिहारी मिश्र के नाम पर तालकटोरा रोड को श्याम बिहारी मिश्र मार्ग घोषित किया जाए एवं एक चौराहे का नामकरण भी उनके नाम पर किया जाए। जिसका समर्थन वरिष्ठ व्यापारी उद्यमी महिला नेत्री श्रीमती रेशु भाटिया व व्यापार मण्डल की महिला अध्यक्ष ममता जिन्दल ने किया, जिसपर महापौर ने तत्काल दिवंगत वरिष्ठ व्यापारी नेता के नाम पर तालकटोरा मार्ग का नामकरण *पं० श्याम बिहारी मिश्रा मार्ग* करने एवं एक चौराहे का नामकरण करने की घोषणा कर दी।

प्रांतीय अध्यक्ष मुकुन्द स्वरूप मिश्रा ने कहा कि मौजूदा समय व्यापारी समाज सबसे ज्यादा पीड़ित व शोषित है उन्होंने सुबह 4 घण्टे का व्यापार करने की छूट देने की साथ लॉक डाउन में बकाए बिलों पर कनेक्शन न काटे जाने की मांग की, जिसपर महापौर ने व्यापारी हित में शासन से वार्ता करने के लिए आश्वस्त किया।

सभा को सम्बोधित करते हुए महापौर सयुंक्ता भाटिया ने कहा कि स्वर्गीय पंडित श्याम बिहारी मिश्रा जी का व्यापारियों की दशा सुधारने में अहम योगदान रहा है, मुझे ध्यान में आता है मेरे पति स्वर्गीय सतीश भाटिया जी जब विधायक हुआ करते थे तो श्याम बिहारी जी पार्टी के सांसद थे और स्वर्गीय भाटिया जी के अच्छे मित्र थे। लखनऊ आने पर कई बार उनका आना जाना हमारे घर पर भी होता था , मुझे उनसे कई बार मिलने का और बहुत कुछ सीखने का अवसर प्राप्त हुआ। श्रद्धेय पंडित श्याम बिहारी मिश्र जी के साथ स्वर्गीय भाटिया जी ने कई बार व्यापारियों के हित के लिए संघर्ष किया था। श्रद्धेय श्याम बिहारी जी ने अपना संपूर्ण जीवन व्यापारी समाज के हित मे लिए संघर्ष में व्यतीत किया। समस्त व्यापारियों के उत्पीड़न की खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए वह जाने जाते है, मैं उन्हें शत शत नमन करती हूँ, उनके नाम पर मार्ग और चौराहा का नामकरण कराना मेरे लिए गर्व की बात होगी। मैं इसकी घोषणा करती हूँ और नगर निगम की कार्यकारिणी में विधिवत इसको पास करा कर शीघ्र ही इसका क्रियान्वयन कराया जाएगा।

उक्त अवसर पर बोलते हुए वरिष्ठ उद्यमी और व्यापारी श्रीमती रेशु भाटिया ने कहा कि स्वर्गीय पंडित श्याम बिहारी मिश्र व्यापारियों के हित मे किये गए संघर्षो के कारण व्यापारी जगत के मसीहा कहे जाते हैं। श्रीमती रेशु भाटिया ने आगे कहा कि अपने जीवन काल में  3/7 समाप्त करने, बिक्री कर व वैट के सर्वे को रुकवाने सहित अनेक संघर्ष करके व्यापारी समाज को शासन व प्रशासन में सम्मान व प्रतिष्ठा दिलाने का काम किया है। उन्होंने मेरे ससुर स्वर्गीय सतीश भाटिया जी के साथ मिलकर इंस्पेक्टर राज के विरुद्ध कड़ा संघर्ष कर व्यापारियों को इंस्पेक्टर राज के शोषण से मुक्ति दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। वह व्यापारी समाज के सर्वोपरि नेता थे इसीलिए वह बहुत लंबे अरसे तक भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं संपूर्ण उत्तर प्रदेश पंडित श्याम बिहारी मिश्र के संघर्षों को भूल नहीं पाएगा।

सभा में उपस्थित महापौर संग सभी सदस्यों ने व्यापारी शहीद दिवस के अवसर पर स्वर्गीय पंडित श्याम बिहारी मिश्र एवं आज के दिन ही शहीद हुए स्वर्गीय हरीश अग्रवाल को नमन करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

इस मौके पर बैठक में प्रमुख रूप से व्यापारी नेता रेशु भाटिया, चेयरमैन सुमेर अग्रवाल, प्रांतीय मीडिया योगेन्द्र सिंह, नगर अध्यक्ष हरि अग्रवाल, महामंत्री अमरनाथ अग्रवाल, युवा नेता रमन मिश्रा, महिला अध्यक्ष ममता ज़िन्दल, चन्द्रशेखर अग्रवाल, सुशील जायसवाल, महामंत्री विनीता श्रीवास्तव, नीलम मिश्रा, सरिता शर्मा, वर्षा अग्रवाल, ओपी सिंह, वी.पी श्रीवास्तव,निखिल उपाध्याय, शेखर त्रिवेदी, पिंटू दीक्षित, राहुल सिंह एवं योगेंद्र कुमार आदि व्यापारी उपस्थित थे।

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

लॉक डाउन में मजदूरों की सहायता कर रहे समाजवादी लोगो पर लिखे गए मुकदमे:ये सरकार की दूषित मानसिकता का प्रमाण है 

Ajay Swarnkar

ईंटों-2 महीने से बंद पड़ा सरकारी अस्पताल-झोलाछाप डॉक्टरों की हुई बल्ले बल्ले

Ajay Swarnkar

शव जिसकी जीविका का साधन है।

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.