सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश पॉलिटिक्स वीडियोस

CM योगी आदित्यनाथ बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का निरीक्षण करने के लिये उड़न खटोले से पहुँचे जालौन

अब तक हुआ 48% बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का  कार्य

जालौन समेत झाँसी,ललितपुर चित्रकूट का भी करेगे निरीक्षण,

जालौन: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिवसीय बुंदेलखंड के दौरे पर है।
सीएम योगी आज जालौन के ग्राम लाड़पुर पहुंचे और बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया।
सीएम योगी ने कहा कि एक्सप्रेसवे के रूप में बुंदेलखंड के लोगों का सपना साकार हो रहा है।
जिस तेजी के साथ इसका निर्माण हो रहा है, उससे भजपा सरकार ने यह साफ कर दिया है कि नियत अच्छी हो तो नेक कार्य मे कोई बाधा भी नहीं आती है।
यहां के लोगों ने भी पूरा साथ दिया है।
प्रधानमंत्री के प्रयास से यहां के किसी घर मे पानी की भी कोई कमी नहीं रहेगी।
कुल मिलाकर विकास बुंदेलखंड के द्वार पर खड़ा है।
पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि पूर्व की सरकारों ने अब तक सिर्फ प्राकृतिक संपदा का दोहन ही किया है।
जहां के लोग गिट्टी और मिट्टी दोनों अपनी जमीन के साथ देने को तैयार हो और फिर भी विकास न हो तो इससे बड़ी उपेक्षा और क्या हो सकती है।साथ ही
झांसी और चित्रकूट में एयरपोर्ट बनाने की बात कही। कहा कि सरकार ने कोरोना से निपटने के भी सटीक प्रयास किये, आज वैक्सीन उपलब्ध है, कोई भी बुजुर्ग सरकारी अस्पताल जाकर मुफ्त टीका लगवा सकता है।
इस दौरान योगी सरकार के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया सरकार अपने कार्यो को लेकर काफी गम्भीर है। इसीलिये
बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का कार्य तेजी से किया जा रहा है।ये कार्य फरबरी 2020 में शुरू हुआ था और अब तक 48% कार्य पूरा किया जा चुका है।और जल्द ही नवम्बर दिसम्बर तक पूरा कर लिया जायेगा।

वही योगी सरकार के दावों की बात की जाये तो यूपी होगा गढ्डा मुक्त और यूपी में बुन्देलखण्ड भी आता है। जहाँ रोड अभी भी गड्ढे मुक्त नही हो पाये है।और योगी सरकार का कार्यालय का 80% पूर्ण हो चुका है। ऐसे मे बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे मरहम का काम करता दिख रहा है।

*रिपोर्ट-जनपद जालौन से soni news के लिए अमित कुमार।*

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

मैं अभी जिंदा हूं:अमर सिंह

Ajay Swarnkar

जालौन-तीन दलित छात्रों के साथ भेदभाव का मामला सामने आया।

AMIT KUMAR

लखनऊ ऐशबाग रामलीला की मिट्टी जायेगी अयोध्या

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.