सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश क्राइम वीडियोस

पति ने फोन पर दिया तीन तलाक, ससुराल वालों ने निकाला घर से

 

ससुराल पक्ष के 8 लोगों पर हुआ मुकदमा दर्ज

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में तीन तलाक मामले में पुलिस ने महिला के पति समेत 9 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. महिला ने पुलिस को तहीर दी है कि उसके पति ने मोबाइल पर बहस के बाद तीन तलाक दे दिया था.

सोनभद् जिले के दुद्धी क्षेत्र में एक महिला ने पति पर तीन तलाक देने और दहेज उत्पीड़न का आरोप लगाया है. पुलिस ने महिला की तहरीर पर पति समेत नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. महिला का आरोप है कि उसके पति ने फोन पर तीन तलाक दिया और ससुराल वालों ने उसे घर से मारपीट कर बाहर निकाल दिया.

मोबाइल फोन पर पति ने दिया तीन तलाक
जिले के दुद्दी थाना क्षेत्र के कोरची गांव में रहने वाली रेहाना बानो पुत्री अमरुद्दीन ने अपने पति जमीर हुसैन पर तीन तलाक देने का आरोप लगाया था. रेहाना बानो ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया कि उसकी शादी 5 वर्ष पूर्व कोरची गांव के ही जमीर हुसैन पुत्र जहरुद्दीन से हुई थी. शादी के बाद से ही ससुराल वाले उसको दहेज के लिए परेशान करते थे. 6 जनवरी 2021को उसके पति ने गुजरात से मोबाइल फोन पर वाद-विवाद के बाद तीन तलाक दे दिया. इसके बाद ससुराल वालों ने उनको ससुराल से मारपीट कर भगा दिया. महिला ने बताया कि इसके बाद वह अपनी चार वर्षीय बच्ची के साथ पिता कर घर आ गयी.

पुलिस कर रही मामले की जांच
पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि महिला की तहरीर पर पुलिस ने कोरची निवासी जहरुद्दीन, जमीर पुत्र जहरूद्दीन, नसीमा खातून,अमीर हसन, जलील, अफसाना पत्नी अमीर हसन, रवीना बानो पुत्री जहरुद्दीन और बैरखड़ थाना विंढमगंज निवासी आजाद अली पुत्र रोजन, अख्तरी बानो पत्नी आजाद अली के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. एसपी ने बताया कि सभी आरोपियों के खिलाफ 147,323,504,506,498 आईपीसी व A, 3/4 डीपी एक्ट, 3/4 मुस्लिम महिला संरक्षण अधिनियम 2019 के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है.

ये भी पढ़ें :

परीक्षार्थियों के अंक-पत्र, सह प्रमाण-पत्र डिजिटल माध्यम से 1 जुलाई, 2020 से जारी किये जायेंगे

Ajay Swarnkar

प्राचीन युग से मां जालौन देवी के मंदिर पर अष्टमी और नवमी को लगता है भव्य मेला

Ajay Swarnkar

गुमशुदा की तलाश

AMIT KUMAR

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.