सोनी न्यूज़
जालौन

पूर्व सपा विधायक पर लगा विद्यालय की भूमि पर कब्जा करने का आरोप,DM से लगाई गई गुहार 

 

लालच इंसान को क्या से क्या बना दे ये कहना मुश्किल है। दरसल हम बात कर रहे जनपद जालौन के मुख्यालय उरई की जहाँ पर 70 वर्ष पुराने श्री गांधी इंटर कॉलेज की जिसकी स्थापना 1949 में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष स्वर्गीय श्री चतुर्भुज शर्मा ने की थी। जो कि स्टेशन रोड पर स्थित है।और इसी विद्यालय के प्रधानाचार्य ने समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक दयाशंकर वर्मा पर विद्यालय की जमीन हड़पने का आरोप लगाते हुये अन्देशा जताया है।जिसके चलते गांधी इंटर कॉलेज के प्रधानचार्य रविशंकर अग्रवाल ने
विद्यालय की भूमि पर अवैध कब्जे को लेकर अपर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौपा है।

उन्होंने मीडिया को बताया कि उरई नगर में स्टेशन रोड स्थित विद्यालय के बगल में समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक श्री दयाशंकर वर्मा का आवास व लॉज है कुछ दिन पूर्व दयाशंकर वर्मा ने अपने आवास में मरम्मत के लिए मुझसे गुम्मा,गिट्टी बालू रखने की मौखिक अनुमति मांगी थी जिसे मैंने दे दी थी।निर्माण कार्य के दौरान जब कॉलेज बंद था तो मौका देख दयाशंकर वर्मा ने बच्चों की कीड़ा स्थल की बेश कीमती भूमि पर कब्जा करने की नियत से अपने आवास के पीछे की दीवार पर दरवाजा लगा लिया जो बच्चों के कीड़ा स्थल में खुलता है तथा ऊपरी मंजिल पर निर्माण के दौरान करीब 4 फीट छज्जा विद्यालय परिसर में बढ़ा लिया साथ ही कॉलेज गेट के अंदर सीमेंट के खंभे लगाकर तार फिनिश कर दी इसकी चार सौ बीसी की नियत व मंशा पूरे कीड़ा स्थल को हड़पने की है।क्योंकि यह पूर्व में भी विद्यालय गेट पर कब्जा करने का प्रयास कर चुके हैं जो प्रशासन के संज्ञान में है जब विद्यालय के शिक्षकों ने इस पर आक्रोश जताया तो इन्होंने गाली गलौज करते हुए सब को देख लेने की धमकी दी थी।
इसलिए जिला प्रशासन से अनुरोध है कि शिकायत दर्ज कर अवैध निर्माण से संस्था को मुक्त कराने की कृपा करें।

*रिपोर्ट-जनपद जालौन सेsoni news के लिए अमित कुमार के साथ श्यामजी सोनी।*

ये भी पढ़ें :

थानाध्यक्ष गोहन राजीव बैस ने पेश की मानवता की मिशाल !

Ajay Swarnkar

जालौन में निजीकरण के विरोध में एलआईसी कर्मचारी रहे एक दिवसीय हड़ताल पर

AMIT KUMAR

3 जुलाई पंचायत चुनाव के नाम,बीजेपी प्रत्यशी घनश्याम अनुरागी बने जिला पंचायत अध्यक्ष

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.