हमीरपुर-जातीय हिंसा के कारण खेली गई खून की होली

हमीरपुर।एक ओर जहां पूरा देश रंगों के त्योहार होली की खुशियां मना रहा था। तो वहीं कोतवाली क्षेत्र के ग्राम छिमौली गांव में जातीय हिंसा ने खूनी संघर्ष का रूप धारण कर लिया। जिसमें दोनों ओर से लगभग एक दर्जन लोग घायल हुए। मिली जानकारी के अनुसार घटना में घायल सहदेव यादव ने बताया कि जब वह अपनी दुकान पर बैठा था तभी मौदहा ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि लाला राम निषाद अपने एक दर्जन से अधिक साथियों के साथ हाथों में असलहे, सरिया, लाठी डंडे, कुल्हाड़ी और गडासा लेकर आये और हमारे घर में घुस कर हमला कर दिया जिससे हमारे तीन भाईयों और दो महिलाओं सहित छः लोगो के गंभीर चोटें आईं हैं।

वहीं लालाराम ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि का कहना है कि जब हम मण्डल अध्यक्ष बीजेपी के कार्यक्रम में जा रहे थे तभी सहदेव यादव आदि ने हमारे ऊपर जानलेवा हमला कर दिया जिससे हमारे पक्ष के आधा दर्जन से अधिक लोगों को गंभीर चोटें आईं हैं। वहीं प्रतयक्ष दर्शियों ने बताया कि पुलिस असहाय बनी तमाशा देखती रही है।

वही पीडितों ने बताया कि कल गांव में ही एक निषाद के यहां पर पुलिस ने छापेमारी कर अवैध शराब बरामद की थी।जिसका शक निषाद जाति के लोगों ने यादव जाति पर किया और उसी की प्रतिक्रिया में उक्त घटना घटी है। फिलहाल पुलिस ने दोनों पक्षों की तहरीर लेकर घायलों को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेज दिया है और आवश्यक कानूनी कार्यवाही करने की बात कही है। सीएचसी मौदहा मे भी हुआ तमाशा बताते चलें कि जब कोतवाली पुलिस घायलों को लेकर सीएचसी मौदहा पहुंची तो पीछे से मौदहा ब्लॉक प्रमुख मंजू निषाद भी कुछ महिलाओं के साथ आगयी और विवाद बढने लगा इसपर कोतवाली पुलिस ने महिला सिपाहियों को बुलाया जब जाकर मामला शांत कराया गया।

Related Posts

News Reporter Details

Add Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.