बादलों ने भी दिया अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि तो विन्ध्य धाम से उठा शोक की लहर

बादलों ने भी दिया अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि तो
विन्ध्य धाम से उठा शोक की लहरविन्ध्याचल माँ विंध्यवासिनी का धाम विश्व में धार्मिक नगरी व सिद्ध पीठ की नगरी से विख्यात है। लेकिन जब-जब कोई संकट देश पर या देशवासियों पर आया है, तब-तब श्री विन्ध्य पंडा समाज के लोग और पूरा विन्ध्य धाम, देश को संकट से मुक्त करने और विश्व कल्याण के लिए सदैव अग्रेसर रहे है,चाहे देश को विश्व कप जिताने की बात हो, श्री नगर में बाढ़ से पीड़ितों की मदद की बात हो,चाहे देश के किसी बड़े और साफ-सुथरे राज नेताओं और अभिनेताओं से लेकर सभी क्षेत्र में किसी भी व्यक्ति, समाज,क्षेत्र के ऊपर कोई भी संकट आया है, तब-तब श्री विन्ध्य पंडा समाज के लोग और पूरा विन्ध्य धाम एकजुट होकर के उनके सलामती, खुशहाली तथा सभी प्रकार के लाभ के लिए जगत जननी माँ विंध्यवासिनी से प्रार्थना, हवन,पूजन के साथ-साथ आर्थिक मदद एवं हर सम्भव मदद करने के लिए सदैव अग्रेसर रहे है।
इसी कड़ी में गुरुवार को कश्मीर के पुलवामा जिले में शाम को आतंकियों ने सी.आर.पी.एफ.के काफिले पर हमला कर 44 से भी अधिक वीर सैनिकों को शहीद कर दिया। उनके परिजनों को और देश को जो क्षति हुआ है वह अकाल्पनिक है और अपूर्णीय है। आज शहीद जवानों के परिजनों पर जो विपत्ति और दुःख का वज्राघात हुआ है। इससे सिर्फ उन सैनिकों के परिजनो को ही नहीं बल्कि पूरा देश आहत है।
आज सभी सरकारी, गैर सरकारी संस्थानों से शहीद सैनिकों की आत्मा की शांति और उनके परिजनों को इस दुःख को सहन शक्ति प्रदान करने के लिए श्रद्धांजलि अर्पित किया जा रहा है।
वही विन्ध्य धाम में भी इस दुःखद घटना से आहत श्री विन्ध्य पंडा समाज के पदाधिकारियों सहित सदस्यों ने भी मंदिर प्रांगण में देश के सपूतों की आत्मा की शांति हेतु और उनके परिजनों को इस दुःख को सहने के लिए उन्हें सहनशक्ति प्रदान करने के लिए माँ से प्रार्थना करने के साथ-साथ हवन भी किया गया।

 

इस दौरान श्री विन्ध्य पंडा समाज अध्यक्ष पंकज द्विवेदी, मंत्री भानू पाठक, विद्यानंद मिश्र(भैया जी),तेजन गिरी, गौतम द्विवेदी,अश्विनी पांडेय, शक्ति उपाध्याय, अश्वनी उपाध्याय, रामदयाल द्विवेदी, आशु पांडेय,अमन सिंह,ऋषि द्विवेदी, बोध महाराज,प्रशांत द्विवेदी,विकास पांडेय,शिवदयाल द्विवेदी,भाष्कर मिश्रा,सत्यम द्विवेदी, संदीप मिश्रा, राज शुक्ला,आदि लोग उपस्थित रहे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.