सोनी न्यूज़
उत्तर प्रदेश

ढाई आखर प्रेम की सांस्कृतिक यात्रा शनिवार को पहुंची माहिल एतिहासिक नगरी उरई में। मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र बजरिया में यात्रा का किया गया जोरदार स्वागत

उरई(जालौन)।आजादी के अमृत महोत्सव 75 साल के मौके पर ढाई आखर प्रेम की सांस्कृतिक यात्रा का शनिवार को जनपद मुख्यालय उरई की एतिहासिक माहिल नगरी में पहुंचते ही शहर मुस्लिम बाहुल्य बजरिया में दर्जनों लोगों गुलाब के फूलों की बारिश कर यात्रा में साथ चल रहे लोगों का भब्य स्वागत किया।
शनिवार की सुबह सांस्कृतिक यात्रा का माहिल नगरी उरई नगर आगमन पर
समाजसेवी यूसुफ अंसारी अलमारी वाले के नेतृत्व में शायर एवं कवि शफीकुर्रहमान कश्फी, छुन्ना हुसैन रिजवी, गीतकार मिर्जा साबिर बेग, फारुख बफा शायर, मुन्ना अंसारी, बली मुहम्मद, का. विनय पाठक, गोपाल जी मिश्रा, नईम भाई, बाबू भाई आदि ने जोरदार स्वागत किया।
यात्रा में शामिल इप्टा के राज पप्पन, का. सुधीर अवस्थी, रेहान सिददीकी, चौ. श्याम सुन्दर सहित आदि लोग मौजूद रहे।
यात्रा में साथ चल रहे लोगों ने विस्तार से बताया कि ढाई आखर प्रेम की सांस्कृतिक यात्रा छत्तीसगढ़ से 9 अप्रैल से शुरू हो कर 22 मई को समापन किया जायेगा। उन्होंने बताया कि यात्रा ऐतिहासिक स्थलों की माटी को एकत्रित करके अजादी के वीर सपूत सरदार भगतसिंह के पैतृक गांव जाकर उनकी यादगार में विशाल पौधें लगाए जायेगे। बताया कि देश की एकता अखंडता, प्रेम भाई चारा बनाये रखने हेतु सांस्कृतिक कार्यक्रम इप्टा नामक संस्था द्वारा किये जायेगे।
इस कार्यक्रम में देश की आजादी में कुर्बानी देने वाले महापुरुषों के बारे में भी बताया।

रिपोर्ट-अमित कुमार उरई जनपद जालौन उरई प्रदेश।

ये भी पढ़ें :

उरई के अजनारी रेलवे क्रॉसिंग के पास मिला जुनियर इंजीनियर के शव

Ajay Swarnkar

जालौन-गुटखा माफिया प्रशासन को दिखा रहे ठेंगा।

AMIT KUMAR

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लाल जी टंडन का लखनऊ में हुआ निधन

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.