सोनी न्यूज़
प्रचार
  • राजधानी लखनऊ में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-8299589254 निखिल श्रीवास्तव संवाददाता–लखनऊ,पूरे उत्तर प्रदेश में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-9415596496 -9935930825 -पूरे बुन्देलखण्ड शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अशफाक अहमद बुन्देलखण्ड व्यूरो-मो-9838580073 -जनपद जालौन में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे--मो-8299896742,श्यामजी सोनी मो-9839155683,अमित कुमार मो-7526086812,जनपद झाँसी में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अरुण वर्मा मो-9455650524-जनपद आजमगढ़ में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-रामानुजाचार्य त्रिपाठी मो-9452171219-जनपद कानपुर देहात में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-मनोज कुमार सिंह मो-9616891028-
उत्तर प्रदेश

UP की जेलों में बन्द कैदियों की बोर्ड परीक्षा में सफलता पर डीजी जेल आनंद कुमार ने दी बधाई

लखनऊ

उत्तर प्रदेश की जेलों में बन्द कैदियों की बोर्ड परीक्षा में सफलता पर डीजी जेल आनंद कुमार ने दी बधाई

यूपी की जेलों में निरुद्ध बंदियों ने भी बोर्ड की परीक्षाओं में लिया भाग

हाईस्कूल बोर्ड में 17 जेलों के 114 बंदियों ने भरे थे फॉर्म

जिसमें से 93 बंदियों ने परीक्षा दी और कुल 86 बंदी हुए पास

परीक्षा देने वाले बंदियों में से कुल 92.4% बंदी सफल रहे

हाईस्कूल परीक्षा में बैठे सभी 93 बंदी पुरुष थे

इंटरमीडिएट बोर्ड की परीक्षा में 95 बंदियों ने भरा था फॉर्म जिसमे 75 बंदियों ने दी थी परीक्षा

75 में से 63 बंदी पास हुए

इंटर में 75 बंदियों में से दो महिला बंदी भी थीं जिनमें से एक देवरिया जेल की तथा दूसरी सहारनपुर जेल की थी

दोनो महिला बंदियों ने परीक्षा में सफलता प्राप्त की

इंटर की परीक्षा में जिला जेल गाज़ियाबाद के विचाराधीन बंदी
अरुण पुत्र ओमवीर ने 354 /500 यानी
70.8 ℅ अंक पाकर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया जबकि हाईस्कूल में केंद्रीय कारागार वाराणसी के सिद्धदोष बंदी शिवप्रताप सिंह पुत्र रामकवल ने 459/600 यानी 76.5% अंक पाकर बंदियों में सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया।

डीजी जेल आनंद कुमार ने परीक्षाओं में सफल सभी बंदियों को शुभनामनाएँ देते हुए बंदी – शिक्षा कार्य में लगे जेल अधिकारियों, कर्मचारियों को शिक्षा जैसा पवित्र दान बंदियों को देने के लिए हार्दिक बधाई दी है तथा यह कहा है कि-
” पथ से भटके हुए बंदियों के पुनर्वास तथा उन्हें समाज की उपयोगी इकाई बनाने के लिए बंदी- शिक्षा से उत्तम विचार दूसरा कुछ नहीं है “

Content Protection by DMCA.com

ये भी पढ़ें :

इंडियन नेशनल लीग और राष्ट्रीय भागीदारी आंदोलन के द्वारा सभा हुई आयोजित

Ajay Swarnkar

जी आई सी के 137 वे स्थापना दिवस पर 25 को होगा जश्न

Ajay Swarnkar

कोरोना के कहर से फिर सहमा कानपुर देहात

Ajay Swarnkar

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.