प्रचार
  • पूरे उत्तर प्रदेश में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-9415596496 -9935930825 -पूरे बुन्देलखण्ड शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अशफाक अहमद बुन्देलखण्ड व्यूरो-मो-9838580073 -जनपद जालौन में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-रंजीत सिंह-मो-8423229874,श्यामजी सोनी मो-9839155683,अमित कुमार मो-7526086812,जनपद झाँसी में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-अरुण वर्मा मो-9455650524-जनपद आजमगढ़ में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-रामानुजाचार्य त्रिपाठी मो-9452171219-जनपद कानपुर देहात में शुभ अवसरों पर विज्ञापन एवं बधाई सन्देश देने के लिए सम्पर्क करे-मनोज कुमार सिंह मो-9616891028-
उत्तर प्रदेश

राष्ट्रीय सार्वजनिक परिवहन उत्कृष्टता पुरस्कार -2019″ हुआ प्राप्त यूपीएसआरटीसी भी सम्मानित

1- आज “ग्रामीण कनेक्टिविटी” को लेकर “राष्ट्रीय सार्वजनिक परिवहन उत्कृष्टता पुरस्कार -2019” प्राप्त करके यूपीएसआरटीसी सम्मानित और गौरवान्वित है।

2- यह पुरस्कार यूपीएसआरटीसी को आज दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन और सार्वजनिक परिवहन पर प्रदर्शनी-भारत (ICEPTI-2019) में जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह जी, सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री, भारत सरकार द्वारा दिया गया। इस पुरस्कार में प्रशंसा पत्र, एक मेमेंटो और ₹ 7.5 लाख पुरस्कार राशि शामिल है। एमडी यूपीएसआरटीसी, अडिशनल एमडी, सीजीएम (ओ), जीएम आईटी, आरएम गाजियाबाद, प्रबंधक आईटी और अन्य अधिकारियों ने माननीय मंत्री द्वारा पुरस्कार प्राप्त किया।

3- इस पुरस्कार को एसोसिएशन ऑफ स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग्स (एएसआरटीयू), सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है।

4- यूपीएसआरटीसी द्वारा ग्रामीण कनेक्टिविटी के बारे में अब तक प्राप्त तथ्य और आंकड़े इस प्रकार हैं:
वर्ष 2017 में, 38200 गाँव ऐसे थे जो बस सेवा से नहीं जुड़े थे। प्रदेश सरकार द्वारा प्राथमिकता के आधार पर आगामी 4 वर्षों के समय में सभी असंबद्ध गांवों / मजरों को जोड़ने की घोषणा की गई थी।

5- पिछले लगभग 33 महीनों में यूपीएसआरटीसी ने 25000 गांवों को बस सेवा से सफलतापूर्वक जोड़ा है और इन गांवों में कम से कम एक बार कनेक्टिविटी सुनिश्चित की है।

6- यूपीएसआरटीसी की अगले 15 महीनों के दौरान बाकी बचे 13200 गांवों को ग्रामीण कनेक्टिविटी की नई नीति के तहत एकल कनेक्टिविटी से जोड़ने की योजना है।

7- यूपीएसआरटीसी ने मार्च 2021 तक सभी असंबद्ध गांवों को ग्रामीण कनेक्टिविटी की सरकारी प्रतिबद्धता सुनिश्चित करने के लिए अपनी खुद की मौजूदा बसों के बेड़े और नई संविदात्मक बसों का उपयोग किया है।

8- यूपीएसआरटीसी ग्रामीण कनेक्टिविटी योजना के तहत बस मार्गों और समय की “जियो टैगिंग” और “जीओ लोकेशन” का कार्य भी कर रहा है, जो अगले 6 महीनों में पूरा हो जाएगा।

9- यूपीएसआरटीसी, ग्रामीण कनेक्टिविटी की इस प्रतिबद्धता को पूरा करने में महती योगदान के लिए माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश का तहे दिल से शुक्रिया अदा करता है। हम इस संबंध में सहयोग और मदद के लिए माननीय परिवहन मंत्री को तहे दिल से धन्यवाद देते हैं। हम माननीय चेयरमैन और प्रधान सचिव का उनके सतत मार्गदर्शन, दिशा-निर्देशन और इसे संभव बनाने के लिए आवश्यक समर्थन के लिए तहे दिल से धन्यवाद करते हैं। यूपीएसआरटीसी पूर्व मंत्री परिवहन, सभी प्रमुख प्रधान सचिव परिवहन और सभी पूर्व एमडी को इसमें उनके योगदान एवं प्रयास की सराहना करता है।

10- यूपीएसआरटीसी ने मुख्यालय के (एडिशनल एमडी, वित्त नियंत्रक, मुख्य महा प्रबंधक -ए , मुख्य महाप्रबंधक- ओ, मुख्य महाप्रबंधक-टी, जीएम-आईटी, डिप्टी जीएम गण / एजीएम गण -आईटी) सभी जीएम-ओ, और सभी संबंधित अधिकारी) और हमारे सभी आरएम / एसएम / एआरएम का उनके कठिन परिश्रम एवं प्रतिबद्घता के लिए तहे दिल से आभार और प्रशंशा की है। इस संबंध में “अनुबंधित बस ओनर्स एसोसिएशन उत्तर पददेश” का उनके योगदान के लिए हमारा विशेष धन्यवाद।
———-

ये भी पढ़ें :

उरई में अखिल भारतीय बाल्मीकि महासभा की समीक्षा बैठक हुई

Ajay Soni

गोण्डा वकीलों का चक्काजाम प्रदर्शन

Ajay Soni

नमो नमो मोर्चा ने समाज के बृद्ध लोगो की मदद करने का बीड़ा उठाया

Ajay Soni

अपना कमेंट दें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.