उरई (जालौन)-राष्ट्रीय शैक्षिक महा संघ के अध्यापकों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा

उरई (जालौन)- राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ शाखा जनपद जालौन ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा।
जिसमे बताया गया-जिला विद्यालय निरीक्षक जालौन द्वारा प्रभारी पद का उपयोग कतिपय नेताओं के हितों की पूर्ति के लिए किए जाने से तथा शासन आदेश का उल्लंघन किए जाने से जनपद के अध्यापक अत्यंत परेशान है।तथा पदोन्नति  काउंसलिंग बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। प्रकरण की गंभीरता व शासन द्वारा निर्धारित अवधि 2 अप्रैल 18 व्यतीत के उपरांत भी परिषदीय अध्यापकों की पदोन्नति नहीं हो पाने के कारण,  राष्ट्रीय शौक्षिक महासंघ को प्रकरण को आज अपने संज्ञान में लेकर दिनांक 18/05/18 कोपदोन्नति की काउंसलिंग कराने तथा ग्रीष्मावकाश से पहले पदोन्नति आदेश जारी कराने के समक्ष आदेश जारी करने की  माँग की है। जिससे कि प्रभार का दुरुपयोग कर अपने हितों की सम्पूर्ति के लिए अध्यापकों के हितों का बलिदान करने की कुप्रथा पर प्रभावी रूप से रोक लगाई जा सके।
वही कार्मिक विभाग उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ द्वारा जारी शासनादेश संख्या 02/ 2018 – 13 (6) /2017 का-1 2018 दिनांक 05/03/18 के माध्यम से उपलब्ध रिक्तियों को दिनांक 02/04/2018 तक पदोन्नतियाँ कर  भरने के सर्वोच्च प्राथमिकता वाले स्पष्ट दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। तदानुक्रम में उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय इलाहाबाद द्वारा आदेश संख्या-बेoशoपo/23365 – 534/2017 – 18 दिनांक 28 /03/2018 के माध्यम से की कार्रवाई 1 माह में पूर्ण कराने के आदेश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जालौन को दिए गए थे।  परंतु BSA जालौन के स्तर से पदोन्नति काउंसलिंग की समस्त औपचारिकताएँ  संपूर्ण कर ली गई है। परंतु पदोन्नति की काउंसलिंग की तिथि आज दिनांक 17/05/18 को होने का आदेश भी अनौपचारिक के रूप से प्रसारित भी करा दिया गया है। परंतु जिला विद्यालय निरीक्षक जालौन द्वारा उनके हित संवर्धन में लगे कतिपय नेताओं की चाटुकारिता के लिए आज दिनांक 17/05/2018 को काउंसलिंग नहीं कराई जा रही है। जिला विद्यालय निरीक्षक के पास प्रधानाचार्य डाइट पिंडारी का भी अतिरिक्त प्रभार होने के कारण परिषदीय अध्यापकों की  पदोन्नति में अपने निहित हितों के संबर्धन में लगे कतिपय शिक्षक नेता कम दलालों के हितों की सम्पूर्ति के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक प्रभारी प्राचार्य डाइट पिंडारी के द्वारा उपरोक्त वर्णित सर्वोच्च प्राथमिकता वाले शासनादेशों विभागीय आदेशों की  घोर अवहेलना की जा रही है। जिसमें अध्यापकों के हित की अपूर्णीय क्षति हो रही है।
ज्ञापन देते हुए- राजेंद्र राजपूत(जिलाध्यक्ष), प्रकाश नारायण पाठक (जिला संरक्षक),अरविंद नगाइच (जिला प्रभारी),प्रदीप सिंह चौहान(जिला महामंत्री),नरेंद्र यादव, नृपेंद्र देव सिंह, अशोक तिवारी,अरुण पांचाल, इलियास मंसूरी,अजहर अंसारी,शोएब अंसारी,आसमा परवीन,राघवेंद्र राजपूत,सुरेश वर्मा,अयूब कुरैशी,तनवीर अहमद,श्याम जी गुप्ता,सुंदर सिंह शास्त्री,राहुल कुमार, देवकीशरण, उमेश कुमार, सुरेंद्र सिंह,अमित कुमार पटेल, रमाकांत,कमलापति, अभिलाष सिंह,प्रताप भानु सिंह,धर्मेंद्र सिंह चौहान, गिरधर कुमार,अनिल कुमार, प्रियंका,सूर्य प्रकाश,अरविंद,दीप्ति गुर्जर, वब्रजेश कुमार आदि शामिल रहे।
 soni news के लिए जनपद जालौन से अमित कुमार

Related Posts

News Reporter Details

Add Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.