ईंटों-2 महीने से बंद पड़ा सरकारी अस्पताल-झोलाछाप डॉक्टरों की हुई बल्ले बल्ले

2 महीने पहिले रिटायर्ड हुए डॉक्टर के बाद नही आया दूसरा डॉक्टर
झोलाछाप डॉक्टरों की हुई बल्ले बल्ले गरीबों से ऐंठ रहे मनमर्जी के पैसे
ईंटों। कुठौंद ब्लॉक के न्याय पंचायत ईंटों में बना सरकारी अस्पताल मात्र दिखावा बन कर रह गया है।
सरकारी अस्पताल में जिन डॉक्टर की तैनाती थी बो करीब दो महीने पहिले रिटायर्ड हो चुके है तब से लेकर अब तक न ही किसी की नई तैनाती हुई है और न ही अस्पताल खुला है। जिसके कारण आम गरीब जनमानस को इलाज के लिए भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 
ईंटों के आस पास के ग्रामीण क्षेत्र में ईंटों का सरकारी अस्पताल मात्र एक इलाज का सहारा था लेकिन अब इसे इस क्षेत्र का दुर्भाग्य कहे या सरकार की उपेक्षा जो इस क्षेत्र के लोगों को झेलनी पड़ रही है।
आसमान से आग बरष रही है और इस मौसम डायरिया और हैजा जैसे भयानक रोग भी भयंकर तरीके फैले है लेकिन सरकारी अस्पताल की इस दुर्दसा के कारण लोगों को झोलाछाप डॉक्टरों के पास मजबूरी जाना पड़ रहा है । सरकारी अस्पताल बन्द होने से झोलाछाप डॉक्टरों की चांदी हो गयी है वो अब आमजनमानस को भयंकर तरीके से लूटने में लगे हैं।
एक तरफ योगी सरकार लोगों को फ्री दवाई देने रोज दम्भ भरती है लेकिन ईंटों अस्पताल योगी सरकार के इस दम्भ को पूर्ण तरीके से झुठलाता नजर आता है। अगर जल्द ही शासन द्वारा अस्पताल को लेकर कोई ठोस कदम न उठाया गया तो आम गरीब जनमानस की ये परेशानी कहीं कोई उग्र रूप धारण कर ले ।
रिपोर्टर-अरुण कुमार राठौर

Related Posts

News Reporter Details

Add Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.